3 घंटे से ज्यादा चली बीजेपी CEC की बैठक, कट सकता है वरुण गांधी , संघमित्रा मौर्य और वीके सिंह का टिकट

BJP Central Election Committee meeting- India TV Hindi

Image Source : PTI
बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक 3 घंटे तक चली

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका है। ऐसे में शनिवार को बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की बैठक 3 घंटे तक चली। इस बैठक में पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत सीईसी के सदस्य शामिल हुए। इस दौरान राज्यों के संभावित उम्मीदवारों की सूची पर चर्चा हुई। इस बैठक में ओडिशा, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और राजस्थान के उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई।

इन बड़े नेताओं का कट सकता है टिकट

सूत्रों के हवाले से ये जानकारी मिली है कि वरुण गांधी, संघमित्रा मौर्य और वीके सिंह का टिकट कट सकता है। वहीं मेनका गांधी को सुल्तानपुर से दोबारा चुनावी मैदान में उतारने की संभावना है। वहीं संभलपुर से धर्मेंद्र प्रधान, पुरी से संबित पात्रा और भुवनेश्वर से अपराजिता सारंगी को टिकट संभव है। दो सिटिंग सांसदों विशेश्वर टुडू और प्रताप सारंगी के टिकट कट सकते हैं।

इन सीटों पर चर्चा

बीजेपी की ओडिशा इकाई के अध्यक्ष मनमोहन सामल ने बताया कि सीईसी ने ओडिशा की सभी 21 लोकसभा सीट और 147 विधानसभा सीट के लिए उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की। ओडिशा में बीजेपी और बीजू जनता दल (बीजद) के बीच चुनाव पूर्व गठबंधन करने को लेकर सहमति नहीं बन पाने के कारण यह चर्चा हुई। 

सीईसी पहले दो बार बैठक कर चुकी है और अब तक 291 लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम घोषित कर चुकी है। इन बैठकों में उत्तर प्रदेश, गुजरात, पश्चिम बंगाल, झारखंड, राजस्थान, हरियाणा, कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तराखंड, केरल और तेलंगाना समेत अन्य राज्यों की सीटों पर निर्णय लिया गया। 

बीजेपी ने अभी तक इनमें से कुछ राज्यों में कई सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है। भोजपुरी गायक पवन सिंह सहित घोषित उम्मीदवारों में से कम से कम तीन ने अपने नाम पर कुछ न कुछ विवाद होने के बाद अपना नाम वापस ले लिया। चुनाव के लिए मोदी, शाह, राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी सहित पार्टी के प्रमुख चेहरों के नामों की घोषणा पहले ही की जा चुकी है और वे सभी अपने मौजूदा निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ रहे हैं। लोकसभा की 543 सीटों के लिए 19 अप्रैल से एक जून के बीच सात चरण का चुनाव होना है। मतगणना चार जून को होगी। 

दुर्गापुर और दार्जिलिंग से ये लड़ेंगे चुनाव

दुर्गापुर से एस एस अहलूवालिया की जगह दिलीप घोष चुनाव लड़ेंगे। दार्जिलिंग से राजू बिष्टा चुनाव लड़ेंगे। आज राजस्थान की शेष दस सीटों पर चर्चा होगी। दस में से आठ सीटों पर सीईसी में सहमति बन गई है। दो सीटों पर आलाकमान पर निर्णय छोड़ा गया है। दौसा और करौली-धौलपुर सीट पर पेच फंसा है। राजस्थान की 10 सीटो में से 5-6  सीटों पर महिलाओं को टिकट मिलेगा। (इनपुट: भाषा से भी)

Latest India News

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *