जब CJI चंद्रचूड़ को हुआ था कोरोना तो पीएम मोदी ने तुरंत की थी मदद, जानें पूरा किस्सा

CJI चंद्रचूड़ ने सुनाया बड़ा किस्सा।- India TV Hindi

Image Source : PTI
CJI चंद्रचूड़ ने सुनाया बड़ा किस्सा।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट परिसर में आयुष समग्र कल्याण (AYUSH Holistic Wellness) केंद्र का उद्घाटन किया। मुख्य न्यायाधीश ने बताया कि वह योग करते हैं और शाकाहारी आहार का पालन करते हैं। इस मौके पर CJI चंद्रचूड़ ने आयुष से जुड़ा एक खास किस्सा शेयर किया। उन्होंने बताया कि जब वह कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे तो पीएम मोदी ने फोन कर के उनके लिए वैध और दवाइयों की व्यवस्था की थी। 

मैं आयुर्वेद का समर्थक हूं- सीजेआई चंद्रचूड़

आयुष समग्र कल्याण केंद्र के उद्घाटन के मौके पर सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि मेरे लिए, यह एक संतोषजनक क्षण है। जब से मैंने सीजेआई का पदभार संभाला है तब से मैं इस पर काम कर रहा हूं। मैं आयुर्वेद और समग्र जीवन शैली का समर्थक हूं। हमारे पास 2000 से अधिक स्टाफ सदस्य हैं और हमें जीवन जीने का समग्र पैटर्न पर विचार करना चाहिए। न केवल न्यायाधीशों और उनके तत्काल परिवारों के लिए, बल्कि स्टाफ सदस्यों के लिए भी। उन्होंने कहा कि मैं आयुष के सभी डॉक्टरों का बहुत आभारी हूं। हम इसे सुप्रीम कोर्ट और इसके माध्यम से पूरे देश के सामने पेश कर रहे हैं।

योग और शाकाहार का पालन 

सीजेआई चंद्रचूड़ ने बताया कि वह योग करते हैं और शाकाहारी आहार का पालन करते हैं। उन्होंने कहा कि मैनें पिछले पांच महीनों में मैंने पूरी तरह से शाकाहारी आहार का पालन किया है और मैं इसे जारी रखूंगा। मैं जीवन के समग्र पैटर्न पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करता हूं जो कि आप जो खाते हैं उससे शुरू होता है। उन्होंने कहा कि वे सभी न्यायाधीश, उनके परिवार और सुप्रीम कोर्ट के 2000 से अधिक स्टाफ सदस्य के बारे में बहुत चिंतित हैं क्योंकि उन्हें न्यायाधीशों जैसी सुविधाएं नहीं मिलती हैं। CJI ने कहा कि मैं चाहता हूं कि उनके पास जीवन का एक समग्र पैटर्न हो। मैं मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को इसके लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।

जब पीएम मोदी ने की मदद

सीजेआई चंद्रचूड़  ने कोरोना काल को याद करते हुए कहा- “कोविड फैलने के बाद से मैं आयुष से जुड़ा हुआ हूं। मुझ पर कोविड का बहुत बुरा असर हुआ और प्रधानमंत्री ने मुझे फोन किया और कहा, ‘मुझे विश्वास है कि आप कोविड से पीड़ित हैं और मुझे उम्मीद है कि सब कुछ ठीक है। मुझे एहसास है कि आप अच्छी स्थिति में नहीं हैं, लेकिन हम सब कुछ करेंगे। एक वैद्य हैं जो आयुष में सचिव भी हैं और मैं उनके साथ एक कॉल की व्यवस्था करूंगा जो आपको दवा और सब कुछ भेज देगा। सीजएआई ने बताया कि जब मैं कोविड से पीड़ित था तो मैंने आयुष से दवा ली। दूसरी और तीसरी बार जब मुझे कोविड हुआ, तो मैंने बिल्कुल भी एलोपैथिक दवा नहीं ली। 

ये भी पढ़ें- मल्लिकार्जुन खरगे को खतरा? खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के बाद मिली Z+ सुरक्षा

‘राम मंदिर बनने के बाद भी नफरत का रास्ता नहीं छोड़ रही कांग्रेस’, विपक्ष पर बरसे पीएम मोदी

Latest India News

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *