ईडी ने निरंजन हीरानंदानी और उनके बेटे को पूछताछ के लिए मुंबई बुलाया, जारी किया समन

सांकेतिक तस्वीर- India TV Hindi

Image Source : DEMO
सांकेतिक तस्वीर

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को विदेशी मुद्रा उल्लंघन मामले में पूछताछ के लिए रियल एस्टेट डेवलपर हीरानंदानी समूह के प्रमोटरों निरंजन हीरानंदानी और उनके दुबई स्थित बेटे दर्शन हीरानंदानी को तलब किया है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों का हवाला देते हुए बताया कि पिता-पुत्र को मुंबई में केंद्रीय एजेंसी के कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है। जांच एजेंसी ने गुरुवार को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) प्रावधानों के तहत हीरानंदानी समूह और उसके समूह की संस्थाओं से जुड़े चार परिसरों की तलाशी ली थी।

मुंबई में होगी पूछताछ

सूत्रों ने बताया कि निरंजन एवं दर्शन हीरानंदानी को केंद्रीय एजेंसी के मुंबई स्थित कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया है, लेकिन वे एक अधिकृत प्रतिनिधि के जरिये अपनी प्राथमिक प्रतिक्रिया देने का विकल्प चुन सकते हैं। दर्शन हीरानंदानी पिछले कई सालों से दुबई में रह रहे हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने फेमा के उल्लंघन के आरोपों की जांच के सिलसिले में, रियल एस्टेट समूह हीरानंदानी के मुंबई में और उसके आसपास स्थित लगभग चार परिसरों पर पिछले सप्ताह छापे मारे थे।

ईडी इस मामले की कर रही जांच

ऐसा बताया जा रहा है कि कुछ विदेशी लेनदेन के अलावा, एजेंसी हीरानंदानी समूह के प्रवर्तकों से कथित तौर पर जुड़े ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड्स (बीवीआई) स्थित एक न्यास के लाभार्थियों की भी जांच कर रही है। समूह ने कहा है कि वह फेमा संबंधी इस जांच में संघीय एजेंसी के साथ सहयोग करेगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस जांच का तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता महुआ मोइत्रा के खिलाफ फेमा संबंधी एक अन्य मामले से कोई लेना-देना नहीं है। मोइत्रा को हाल में लोकसभा से निष्कासित कर दिया गया था।

बीजेपी सांसद ने लगाए थे आरोप

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद निशिकांत दुबे ने मोइत्रा पर कारोबारी दर्शन हीरानंदानी से मिले तोहफों के बदले में अडाणी समूह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए लोकसभा में सवाल पूछने का आरोप लगाया था। दुबे ने मोइत्रा पर वित्तीय लाभ के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का भी आरोप लगाया था। मोइत्रा ने इन आरोपों से इनकार किया है और दावा किया है कि उन्हें अडाणी समूह के सौदों पर सवाल पूछने के लिए निशाना बनाया जा रहा है। 

इनपुट- भाषा

Latest India News

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *