यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा: बहुत बड़ा शातिर है नीरज यादव, पिता ने कहा-उसे फांसी पर चढ़ा दो

up police recruitment exam - India TV Hindi

Image Source : FILE PHOTO
यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामला

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में यूपी एसटीएफ के हत्थे चढ़ा नीरज कुमार यादव उर्फ राहुल यादव यूपी के बलिया के हल्दी थाना क्षेत्र के गायघाट गांव का निवासी है और बहुत ही शातिर है। उसने परीक्षा के पहले ही परीक्षार्थियों को व्हाट्सएप के जरिये आंसर भेज दिया था। आरोपी नीरज यादव खुद को सेना का जवान बताकर लोगों को ठगता था। विभिन्न परीक्षाओं में सेंधमारी कर परीक्षा पास कराने का भरोसा देकर मोटी रकम वसूलता था। वह यह सारे काम इतनी सफाई से करता था कि पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाता था लेकिन इस बार उसकी कलई खुल गई है और वह पुलिस की गिरफ्त में है।

पिता ने कहा-वो मर जाए

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने कहा आरोपी नीरज यादव को STF ने गिरफ्तार किया है वह एक फ़्रॉड किस्म का व्यक्ति है। पुलिस परीक्षा में गिरफ्तार इस नकल माफिया से जेल में ही पुलिस पूछताछकर रही है। वही गिरफ्तार नीरज यादव के पीता हरेराम यादव से जब मीडिया ने सवाल पूछा तो वे भड़क गए और उन्होंने  कहा कि मेरे बेटे को फांसी की सजा हो जाये तो अच्छा, ऐसा बेटा मर जाये तो बेहतर। मैं गलत का सपोर्ट नही करूंगा। उसने ऐसा पाप किया है तो वह चूल्हा भांड में जाये। अब हम उनके गार्जियन नहीं है। हमारी सारी प्रतिष्ठा उसने मिट्टी में मिला दी है। नीरज यादव के तीन भाई हैं और एक बहन है।

खुद दी थी पुलिस भर्ती परीक्षा

पुलिस परीक्षा लीक मामले में गिरफ्तार नीरज को स्थानीय लोग राहुल यादव के नाम से भी जानते है। आरोपी नीरज यादव ने भी खुद पुलिस कांस्टेबल भर्ती की परीक्षा दी थी और वह पुलिस में ही भर्ती होना चाहता था। वह खुद को लोगो को मर्चेंट नेवी का जवान बताता है। नीरज सेना भर्ती परीक्षा में छंट गया था, लेकिन वह सेना का जवान बन कर नौजवानों को भ्रमित करता था। विभिन्न परीक्षाओं में सेंधमारी कर परीक्षा पास कराने का भरोसा देकर मोटी रकम वसूलता था।

परीक्षा ले पहले ही भेज दिया था आंसर की

नीरज ने 17 और 18 फरवरी को आयोजित पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर भी परीक्षा शुरू होने के काफी पहले ही प्राप्त कर लिया था। उसके जवाब भी व्हाट्सएप के जरिए भेज दिए थे। इसके बाद पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसको लेकर अभ्यर्थियों ने विरोध जताना शुरू कर दिया। इसके बाद सरकार ने पेपर को निरस्त करते हुए जांच की जिम्मेदारी एसटीएफ को सौंप दी। एसटीएफ ने अपनी शुरुआती जांच में पेपर लीक गिरोह के प्रमुख सदस्य रहे नीरज कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया है।

(बलिया से अमित कुमार की रिपोर्ट)

Latest India News

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *