CBI को सौंपा जाएगा संदेशखाली का मामला? कलकत्ता हाई कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार

संदेशखाली हिंसा पर बड़ा अपडेट। - India TV Hindi

Image Source : PTI
संदेशखाली हिंसा पर बड़ा अपडेट।

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं से कथित यौन शोषण और हिंसा का मामला गरमाया हुआ है। कलकत्ता हाई कोर्ट की फटकार के बाद राज्य पुलिस ने आखिरकार गुरुवार को संदेशखाली हिंसा के मुख्य आरोपी और तृणमूल कांग्रेस के नेता शेख शाहजहां को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि संदेशखाली में महिलाओं पर यौन अत्याचारों और आदिवासियों की जमीन हड़पने के आरोपों पर कोर्ट ने खुद संज्ञान लिया है। वहीं, अब माना जा रहा है कि संदेशखाली में हिंसा के आरोपों की जांच CBI को भी सौंपी जा सकती है। इस मांग को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट ने सुनवाई पर सहमति जता दी है। 

सोमवार को होगी सुनवाई

संदेशखाली में महिलाओं के साथ हुए दुराचार के आरोपों की जांच सीबीआई या एसआईटी को सौंपने को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई थी। मुख्य न्यायाधीश टीएस शिवगणनम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा कि जनहित याचिका पर सुनवाई स्वत: संज्ञान प्रस्ताव के साथ सोमवार को होगी। पीठ ने याचिकाकर्ता को मामले में दूसरे पक्षों को नोटिस भेजने का भी निर्देश दिया है। जनहित याचिका में मामले की जांच के लिए उच्च न्यायालय के सेवानिवृत तीन न्यायाधीशों की एक समिति के गठन का भी अनुरोध किया गया है।

10 दिन की पुलिस रिमांड पर शेख

शाहजहां शेख को गुरुवार को उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली से लगभग 30 किलोमीटर दूर मिनाखान में एक घर से गिरफ्तार किया गया। शेख कुछ साथियों के साथ एक घर में छिपा था। गिरफ्तार करने के बाद उसे बशीरहाट अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे 10 दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। 

तृणमूल ने किया निष्काषित

गिरफ्तारी के बाद तृणमूल कांग्रेस ने शाहजहां शेख के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। पार्टी ने उसे 6 साल के लिए सस्पेंड कर दिया है। बता दें कि राशन घोटाले में शाहजहां की तलाश ईडी को कई दिनों से थी, लेकिन वहग फरार चल रहा था। पिछले दिनों 5 जनवरी को जब ईडी की एक टीम उसके घर पर छापा मारने गई थी तो उसके समर्थकों ने टीम पर हमला बोल दिया था। इस हमले में कई लोग घायल हुए थे। इसके बाद से ही शाहजहां फरार चल रहा था। शेख को निष्काषित करते हुए टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि कुछ पार्टियां केवल बोलती हैं लेकिन टीएमसी बोलने के साथ-साथ एक्शन भी लेती है। (इनपुट: भाषा)

ये भी पढ़ें- इन सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं राहुल और प्रियंका गांधी, कांग्रेस सूत्रों का दावा




लोकसभा चुनाव तक बच सकती है सीएम सुक्खू की कुर्सी, विधायकों के साथ पर्यवेक्षकों की बातचीत जारी

Latest India News

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *